नागरिकों को खुद को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक होने की जरूरत स्वास्थ्य विभाग ने तीन निजी अस्पतालों पर छापा मारा शांति मानवता का मुख्य धर्म व युवा देश की रीढ़ की हड्डी हैं स्वास्थ्य मंत्री अजय चंद्राकर के खिलाफ लगाए मुर्दाबाद के नारे स्वास्थ्य विभाग ने फूड प्वाइज¨नग की आशंका जताई पाक ने सीमा पर फिर किया सीजफायर का उल्लंघन, 2 जवान शहीद वीडियो: योग टीचर पर कहर बनकर टुटा नारियल का पेड़, हुई मौत महिला हाॅकी विश्व लीग के सेमीफाइनल में पराजित होने के बाद भारत रही आठवें स्थान पर महिला SI ने चोर को पकड़ने के लिए बिछाया लव स्टोरी का जाल, भेजा जेल फेडरेशन स्क्वायर में भारत का राष्ट्रीय ध्वज फहरायेंगी ऐश्वर्या जेटली ने पॉलिटिकल फंडिंग को पारदर्शी व सिमित करने के लिए राजनीतिक दलों से मांगे सुझाव बिहार एसटीएफ टीम के हत्ये चढ़ा 50 हजार का इनामी दुर्गेश अरुण जेटली ने कहा है, स्वच्छ राजनीतिक फंडिंग की दिशा में काम कर रही सरकार सीन स्पाइसर के इस्तीफे के बाद ट्रंप प्रशासन के संचार निदेशक बने एंथनी कैग रिपोर्ट: चीन बढ़ा रहा है हिन्द महासागर में कदम, इंडियन नेवी में कई खामियां विदेशी छात्रा को देख युवक ने की ऐसी हैरान करने वाली हरकत... WWC Final: लार्ड्स में कपिल देव का इतिहास दोहराने उतरेंगी देश की बेटियां भगवान बांके बिहारी की शरण में पहुंचे गोविंदा, पूजा अर्चना कर लिया आशीर्वाद केरल: कांग्रेस विधायक एम. विन्सेंट रेप के आरोप में गिरफ्तार व्हाइट-सिल्वर लहंगे में सोनम ने किया रैंप वॉक, जीता सबका दिल
बिल्डर्स के यहां आयकर विभाग का छापा, सरेण्डर किए 5 करोड़ रुपए
sanjeevnitoday.com | Friday, December 2, 2016 | 12:44:11 PM
1 of 1

नई दिल्ली। 500 और 1000 के नोटबंदी होने के बाद करोड़ों के साैदे कर बैंकों में कैश जमा कराए गए, लेकिन आयकर विभाग ने शहर के कुछ ही  बिल्डरों के यहां छापे मारे थे। छापे के दौरान मिले दस्तावेजों की जाँच में  में कमियों को स्वीकारते हुए गाला और स्टार डेवलपर्स ने 5 करोड़ रुपए सरेंडर किए हैं। जानकारों के मुताबिक इस राशि के जमा कराए जाने के बाद भी अभी केस समाप्त नहीं हुआ है और दस्तावेजों की सम्पूर्ण जाँच  के बाद ही आगे की कार्रवाई प्रस्तावित की जा सकेगी।

रामपुर बंदरिया तिराहा स्थित कल्याणिका प्रमोटर्स एवं डेवलपर्स के जब्त किए गए दस्तावेजों की भी जाँच जारी है। नोटबंदी के बाद आयकर की टीम ने शहर के बिल्डर गाला डेवलपर्स, कल्याणिका प्रमोटर एंड डेवलपर्स, ओजस इम्पीरिया, स्टार डेवलपर्स व उसके सहयोगी संस्थान सेंचुरी डेवलपर्स व सेंचुरी प्रमोटर में छापे मारे थे। छापे के दौरान सभी बिल्डरों के दफ्तरों में दस्तावेजों की जाँच शुरू की गई थी। जाँच के दौरान मिले दस्तावेजों की जांच करने पर यह उजागर हुआ था कि बिल्डरों द्वारा जुलाई से लेकर अब तक कई बड़े सौदे किए गए थे और कैश बैंकों में जमा नोटबंदी के बाद कराए गए हैं।

जाँच के दौरान दस्तावेजों में गड़बड़ी को स्वीकारते हुए गाला डेवलपर्स, स्टार डेवलपर्स व उसके सहयोगी संस्थानों ने 5 करोड़ रुपये सरेंडर किए हैं। बिल्डरों द्वारा 5 करोड़ रुपये सरेंडर किए जाने के बाद भी इनके खिलाफ अभी जाँच जारी रहेगी ओर जो भी दस्तावेज जब्त किए गए हैं उनकी बारीकी से जांच की जाएगी। छापे के दौरान जुलाई में किए गए सौदों की रकम बैंकों में जमा न कराए जाने के पीछे बिल्डरों ने ये तर्क दिए हैं कि उनका काम बड़े पैमाने पर चलता है और इसके लिए रोजाना खर्च के लिए बड़ी रकम लगती है, और  वे अधिक कैश राशि अपने पास रखते हैं। 

नोटबंदी के बाद उनके पास जो कैश रकम पड़ी थी, वह बैंकों में जमा कराई गई है। जानकारों के मुताबिक आयकर टीम ने बिल्डरों के ऑफिसों व उनकी साइडों पर जांच शुरू की थी। जांच के दौरान कागजों का ढेर जमा हो गया। जानकारों के अनुसार इन कागजों में से अभी सिर्फ रिटर्न व बैंकों में जमा की गई राशि से संबंधित दस्तावेजों की ही जांच की जा रही है। जानकारों के मुताबिक कुछ बिल्डरों द्वारा जुलाई से नवम्बर तक किए गए सौदों के दस्तावेज प्रस्तुत किए गए, इनमें से कुछ दस्तावेजों को संदिग्ध माना जा रहा है। 

इन दस्तावेजों में बैक डेट में एंट्री की जाने की संभावना नजर आने पर आयकर विभाग ऐसे दस्तावेजों की बारीकी से जाँच कर रहा है। जानकारों के मुताबिक  नोटबंदी के बाद कालेधन को किसानों के खातों में जमा कराए जाने की संभावना को देखते हुए जिन किसानों के खाते संदिग्ध नजर आ रहे हैं, उन पर आयकर टीम की नजर है। जल्द ही ऐसे किसानों को चिन्हित कर नोटिस जारी किए जा सकते हैं। जानकारों के मुताबक ऐसे खाते एक सैकड़ा से अधिक हैं, इन खातों में अचानक बड़ी रकम जमा कराई गई है। आयकर विभाग सूत्रों के मुताबिक वह किसानों को परेशान नहीं करेगा, लेकिन पूछताछ कर अचानक आई रकम के संबंध में जानकारी मांगी जा सकती है।

यह भी पढ़े: जिसके पैरो के निशान दिखे थे 6 महीने पहले उसी ने किया 6 किसानों का क़त्ल, आज भी नही हुआ खुलासा

यह भी पढ़े: जेब में रखे चीनी करेगा मोबाइल चार्ज ये है तरीका

यह भी पढ़े: जवाब नहीं ! चोरी के डर से घर को बना डाला लोहे का पिंजरा

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

 

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.