जापान ओपन: सिंधु-साइना हारी, श्रीकांत और प्रणय क्वार्टर फ़ाइनल में UNICEF के प्रोग्राम में 2,89,780 रुपये का व्हाइट गाउन पहनकर पहुंची PC बनारस बना अपराध का ठिकाना भारत ने AUS से 14 साल पहले का किया हिसाब चुकता, कुलदीप ने ली हैट्रिक सुकमा में पुलिस मुठभेड़ में नक्सल कमांडर भीमा को किया ढेर साउथ अफ्रीका दौरे पर भारतीय टीम 4 नहीं बल्कि 3 टेस्ट खेलेगी क्राइम मनोविज्ञान विधि से जांच करना चाहती है पुलिस , सुनंदा पुष्कर मामला LIVE: भारत ने दूसरा वनडे में ऑस्ट्रेलिया को चटाई धूल, सीरीज में 2-0 की बढ़त मोदी सरकार केश लेश की और भ्रष्टाचार गुजरे जमाने की बात: अरुण जेटली LIVE: ऑस्ट्रेलिया के नौ विकेट गिरे, भारत जीत की और अग्रसर सात साल की मासूम बच्ची के साथ युवक ने किया दुष्कर्म अपेक्स बैंक को मोदी ने किया उत्कृष्ट सहकारी बैंक सेवा के लिए सम्मानित किया यूपी का ATM ठग दौसा में हुआ गिरफ्तार LIVE: भारत के कुलदीप ने मारी हैट्रिक, score 148 रन 8 विकेट इन बॉलीवुड सितारों ने ऐसे दी फैंस को नवरात्रि की शुभकामना परमाणु प्रतिबंध संधि पर 50 देशो ने किये हस्ताक्षर, कई देशो ने नकारा उत्तर प्रदेश व लखनऊ में भारी बारिश की संभावना,मौसम विभाग LIVE: दोनों मैचों में मैक्सवेल को चहल ने भेजा पेवेलियन, स्कोर 100 के पार उधमपुर में नाबालिक लड़की के साथ किया दुष्कर्म आरोपी गिरफ्तार LIVE: भारत को मिली तीसरी सफलता, ट्रेविस हेड लौटे score 85/3
गोवा एशिया का 'स्टार्ट अप' स्थल बनाने की योजना: रोहन खौंते
sanjeevnitoday.com | Thursday, September 14, 2017 | 10:14:38 AM
1 of 1

नई दिल्ली। कंपनी, साझेदारी या अस्थायी संगठन के रूप में शुरू किये गये उस उद्यम या नये व्यवसाय को स्टार्टअप कंपनी या स्टार्टअप कहते हैं जो एक दुहराने योग्य और स्केलेबल व्यापार मॉडल की खोज के लिए आरम्भ किया जाता है। इन कंपनियों, आम तौर पर नए बनाए गए, एक प्रक्रिया में नवाचार के विकास, मान्यता और लक्षित बाजारों के लिए शोध कर रहे हैं। डॉट-काम कंपनियों के एक महान संख्या की स्थापना की थी, जब शब्द अंतरराष्ट्रीय स्तर पर डॉट-काम बुलबुले के दौरान लोकप्रिय हो गया। 

यह भी पढ़े: बिना पैरों के सारे स्पोर्ट्स खेलती हैं और साथ ही...

गोवा सरकार के कैबिनेट ने बुधवार को एक नई 'स्टार्ट-अप' नीति को मंजूरी दी, जिसमें राज्य को 2025 तक एशिया का शीर्ष स्टार्ट अप स्थल बनाने की योजना है। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रोहन खौंते ने बुधवार को संवाददाताओं से राज्य सचिवालय में कहा कि योजना का मकसद विशेष रूप से प्रौद्योगिकी में प्रतिभा पलायन को रोकना है और नौकरियां पैदा करने वालों को बढ़ावा देना है।
खौंते ने कहा, "कैबिनेट ने स्टार्ट अप नीति को मंजूरी दी है। हम सुनिश्चित करना चाहते हैं कि गोवा के शैक्षिक संस्थानों से उत्तीर्ण हो रहे छात्रों को राज्य नहीं छोड़ना पड़े।"

यह भी पढ़े: Underground घरों में रहते हैं इस जगह के लोग

उन्होंने कहा, "हम एक स्टार्ट अप संस्कृति विकसित करना चाहते हैं, जिसमें युवा नौकरियां मांगने वाले नहीं, बल्कि नौकरियां देने वाले बनें।"
मंत्री ने कहा, "हम चाहते हैं कि गोवा को एशिया में 2025 तक शीर्ष स्टार्ट अप स्थानों में जाना जाए।"
उन्होंने कहा कि सरकार का लक्ष्य 100 स्टार्ट अप को सक्षम बनाना है।

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.