loading...
loading...
loading...
पहला टेस्ट मैच भारत से खेलना चाहता है अफगानिस्तान चलती ट्रेन में सीट को लेकर हुआ विवाद, युवक की हत्या कौन था आंनदपाल ? कैसे अपराध की दुनिया का बना बादशाह पढ़िए पूरी खबर ट्रंप ने मोदी को अपना सच्चा मित्र बताते हुए कहा- इस मुलाकात को लेकर काफी उत्साहित हैं कार की टक्कर से बाइक सवार की मौत Breaking : चूरू के मालासर में एनकाउंटर में मारा गया आनंदपाल, दो साथी गिरफ्तार रिपोर्ट: चीन में आए भूस्खलन में 15 की मौत, 121 लापता कैटरीना की सोशल मीडिया एक्टिविटी पर नजर रखते हैं रणबीर कपूर बोपन्ना हारकर बाहर, सानिया मिर्जा सेमीफाइनल में युवक ने चोरी कर चिट्ठी में लिखा, यह मेरे और अल्लाह के बीच का मामला वर्ष 2001 के बाद से अफगानिस्तान में इस साल का रमजान सबसे घातक आलिया के साथ काम करने के लिए काफी उत्साहित है ये अभिनेता डीएसपी हत्या मामला: अब तक 5 की गिरफ्तारी, जांच के लिए SIT का गठन भारत-पुर्तगाल के बीच 11 समझौतों पर PM मोदी ने किए हस्ताक्षर स्वराज ने किया ट्वीट कहा - कतर में भारतीयों की सुरक्षा के लिए उठाएंगे कदम पहला ऐसा मंत्री जिसे ठहराया गया अयोग्य: चुनाव आयोग शाहरुख़ से मिलने के लिए 'मन्नत' के बाहर लगी कई सेजलों की लम्बी लाइन 25 जून : आज का इतिहास J&K: नक्सली और पुलिसवालो में मुठभेड़ जारी, 2 जवान शहीद 5 घायल सोने-चांदी की कीमतों में आई तेजी
गांधीसागर में स्थापित होगा मत्स्य अनुसंधान केन्द्र
sanjeevnitoday.com | Monday, October 17, 2016 | 05:10:11 PM
1 of 1

मंदसौर। गांधीसागर बांध में मत्स्य अनुसंधान केन्द्र (फिशरीज रिसर्च इन्स्टीट्यूट) स्थापित करने की तैयारी की जा रही है। कलेक्टर स्वतंत्र कुमार सिंह ने सोमवार को सहायक संचालक मत्स्य एवं गांधीसागर स्थित मत्स्य महासंघ के अधिकारी को इस हेतु जरूरी कार्रवाई करने के निर्देश दिए। 

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

कलेक्टर श्री सिंह ने एपीसी को बताया कि मानवनिर्मित गांधीसागर बांध के मीठे जल में करीब 40 प्रकार की मत्स्य प्रजातियां पाई जाती है। मत्स्यपालन एवं इससे जुडे अनुसंधान के लिए गांधीसागर में मत्स्य पालन अनुसंधान केन्द्र स्थापित करने की सभी भौतिक संभावनाएं मौजूद है। यहां मत्स्य अनुसंधान केन्द्र खुलने से गांधीसागर क्षेत्र में मत्स्यपालन गतिविधियां तेज होंगी तथा क्षेत्र में पर्यटन विकास को भी बढावा मिलेगा। इस पर एपीसी द्वारा कलेक्टर श्री सिंह को सकारात्मक आश्वासन दिया गया।

आगामी दीप पर्व को ध्यान में रखते हुए कलेक्टर श्री सिंह ने जिला आपूर्ति अधिकारी को निर्देशित किया कि वे खाद्य सुरक्षा के तहत टीम बनाकर जिले भर में खाद्य सामग्री विक्रेता प्रतिष्ठानों विशेषकर मिठाई की दुकानों का निरंतर निरीक्षण करें, मावा, घी, दूध, दही, तेल, मिक्सचर आदि की कढाई से जांच करें। खाद्य सामग्री एवं मिठाई अमानक स्तर पर पाए जाने पर विक्रेता प्रतिष्ठानों पर कड़ी कार्रवाई करें।

यह भी पढ़े : बिस्तर में अपने साथी से कुछ ऐसा चाहती हैं लड़कियां...!!

यह भी पढ़े: स्त्री में सम्भोग की इच्छा बढ़ाने के 4 सबसे आसान घरेलू उपाय...

यह भी पढ़े : क्या आप जानते है छोटे स्तन होने के ये 10 फायदे...?

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

 


FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.