loading...
इतिहास के पन्नों से- आखिर क्यों भारत छोड़ने को उतारू थी ताकतवर प्रधानमंत्रियों में से एक इंदिरा गाँधी! आज का राशिफल (24 मार्च 2017, शुक्रवार) जानिए नवरात्रों में क्यों रखते हैं 9 दिन तक उपवास, क्या हैं महत्व! क्या कोलंबस ने ही की थी अमेरिका की खोज, जानिए क्या कहता हैं इतिहास! जानिए बाल छोटे क्यों रखते हैं सैनिक! शारीरिक संबंधों को बेहतर बनाने के लिए रात को तेज आवाज में सुने संगीत! LG ने भारत में लॉन्च किया Stylus 3, फीचर्स और कैमरा हैं खासियत Take a Selfie: दोस्तों के साथ सेल्फी लेने से बढ़ती हैं खुशियां! खौफनाक मंजर.. प्यार के लिए सिर झुकाकर खाई छड़ी से मार! दावा: इस तरीके से रेगिस्तान को बनाया जा सकता हैं उपजाऊ! जानिए मन में क्यों आते हैं अजीब विचार, क्या कहते थे सर आइंस्टीन? Amazing: इस मंदिर में जलाया जाता हैं घी की जगह पानी का दीपक! पीलिया पीड़ित मरीजों के लिए बेहतर इलाज हैं चींटी का डंक! सीएम योगी एक्शन का असर, प्रशासन चुस्त-दुरुस्त, कई विभागों से मचा हुआ हैं हड़कंप! अमेरिका की 271 अवैध लोगों की सूची को भारत ने किया अस्वीकार एक्सेल एंटरटेनमेंट फिल्म 'गोल्ड' में हॉकी कोच बनेंगे कुणाल एसवाईएल मुद्दे पर शुक्रवार को राजनाथ से मिलेगा हरियाणा का सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल पुलिस वाहन चालक की हत्या के मामले में दो गिरफ्तार सपा राज में बने आगरा-लख़नऊ एक्सप्रेस वे समेत सभी सड़कों की जांच कराएगी UP सरकार होमगार्ड के प्लाटून कमांडर को 3 हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा
गांधीसागर में स्थापित होगा मत्स्य अनुसंधान केन्द्र
sanjeevnitoday.com | Monday, October 17, 2016 | 05:10:11 PM
1 of 1

मंदसौर। गांधीसागर बांध में मत्स्य अनुसंधान केन्द्र (फिशरीज रिसर्च इन्स्टीट्यूट) स्थापित करने की तैयारी की जा रही है। कलेक्टर स्वतंत्र कुमार सिंह ने सोमवार को सहायक संचालक मत्स्य एवं गांधीसागर स्थित मत्स्य महासंघ के अधिकारी को इस हेतु जरूरी कार्रवाई करने के निर्देश दिए। 

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

कलेक्टर श्री सिंह ने एपीसी को बताया कि मानवनिर्मित गांधीसागर बांध के मीठे जल में करीब 40 प्रकार की मत्स्य प्रजातियां पाई जाती है। मत्स्यपालन एवं इससे जुडे अनुसंधान के लिए गांधीसागर में मत्स्य पालन अनुसंधान केन्द्र स्थापित करने की सभी भौतिक संभावनाएं मौजूद है। यहां मत्स्य अनुसंधान केन्द्र खुलने से गांधीसागर क्षेत्र में मत्स्यपालन गतिविधियां तेज होंगी तथा क्षेत्र में पर्यटन विकास को भी बढावा मिलेगा। इस पर एपीसी द्वारा कलेक्टर श्री सिंह को सकारात्मक आश्वासन दिया गया।

आगामी दीप पर्व को ध्यान में रखते हुए कलेक्टर श्री सिंह ने जिला आपूर्ति अधिकारी को निर्देशित किया कि वे खाद्य सुरक्षा के तहत टीम बनाकर जिले भर में खाद्य सामग्री विक्रेता प्रतिष्ठानों विशेषकर मिठाई की दुकानों का निरंतर निरीक्षण करें, मावा, घी, दूध, दही, तेल, मिक्सचर आदि की कढाई से जांच करें। खाद्य सामग्री एवं मिठाई अमानक स्तर पर पाए जाने पर विक्रेता प्रतिष्ठानों पर कड़ी कार्रवाई करें।

यह भी पढ़े : बिस्तर में अपने साथी से कुछ ऐसा चाहती हैं लड़कियां...!!

यह भी पढ़े: स्त्री में सम्भोग की इच्छा बढ़ाने के 4 सबसे आसान घरेलू उपाय...

यह भी पढ़े : क्या आप जानते है छोटे स्तन होने के ये 10 फायदे...?

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

 


FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.