राष्ट्रपति भवन राष्ट्रीय संस्थान है और सभी देशवासियों से सम्बद्ध : राष्ट्रपति PoK में लगे आजादी के नारे, कहा- पाक भेजता है आतंकी अजहर ने कहा- लोढ़ा समिति के सुझावों पर अमल नहीं एचसीए परिवार का शक्ति प्रभाव दांबुला वनडे: अभ्यास के दौरान धोनी-विराट में हुई टक्कर शक के चलते फौजी ने अपनी पत्नी को उतारा मौत के घाट द्रोणाचार्य अवार्ड की सूची से सत्यनारायण राजू का नाम ख़ारिज मुजफ्फरनगर में ट्रैन हादसा, कलिंग उत्कल एक्सप्रेस के 6 डिब्बे उतरे पटरी से राजनीती के पितामह रहे सत्यमूर्ति का जन्मदिन आज ग्रीनपार्क स्टेडियम की बिजली गुल, खिलाडी हुए बेघर, बाहर गुजारी रात जब कैमरे के सामने असहज दिखे ‘दीपवीर’, जानिए यह थी वजह जन्मदिन विशेष : भारत के नवें राष्ट्रपति शंकरदयाल शर्मा सिनसिनाटी ओपन: भारतीयों का सफर खत्म, सानिया मिर्जा-बोपन्ना हारे स्पेन आतंकी हमला में जारी हुए संदिग्धों के नाम, 14 की गई थी जान छेड़छाड़ का विरोध करना पड़ा भारी, बदमाश ने लड़की को मारे लात घुसे ओवैसी के पार्षदों और शिव सेना नेताओ में वंदे मातरम् को लेकर हाथापाई 2019 के वर्ल्ड कप में खेलने के लिए श्रीलंका टीम को जितने होंगे 2 मैच सुशांत और सारा की फिल्म 'केदारनाथ' का पहला मोशन पोस्‍टर रिलीज सृजन घोटाले में सहकारिता अधिकारी पंकज झा गिरफ्तार नडाल पराजित होने के बाद भी बनेंगे नंबर वन
त्यौहार के सीजन में खाने के तेल पर 25% तक आयात शुल्क लगेगा
sanjeevnitoday.com | Saturday, August 12, 2017 | 12:26:37 PM
1 of 1

नई दिल्ली। देश में खपत होने वाले कुल खाने के तेल का करीब 60 फीसदी हिस्सा आयात करना पड़ता है ऐसे में आयात शुल्क बढ़ने से कीमतों मे इजाफा होने की आशंका बढ़ गई है।
आगामी त्योहारी सीजन में खाने के तेल की कीमतें बढ़ने की आशंका जताई जा रही है। केंद्र सरकार ने सोया तेल और पाम ऑयल पर लगने वाले आयात शुल्क में 10 फीसदी का इजाफा किया है। शुक्रवार रात को इस सिलसिले में अधिसूचना जारी हो चुकी है। देश में खपत होने वाले कुल खाने के तेल का करीब 60 फीसदी हिस्सा आयात करना पड़ता है ऐसे में आयात शुल्क में हुई बढ़ोतरी की वजह से आने वाले दिनों में खाने के तेल की कीमतों मे इजाफा होने की आशंका बढ़ गई है।

सरकार की तरफ से जारी हुई अधिसूचना के मुताबिक रिफाइंड खाद्य पाम ऑयल पर आयात शुल्क को 15 फीसदी से बढ़ाकर 25 फीसदी कर दिया गया है। इसके अलावा क्रूड खाद्य पाम ऑयल पर आयात शुल्क को 7.5 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी करने की घोषणा की गई है। पाम ऑयल के अलावा सोया तेल पर लगने वाले आयात शुल्क को भी बढ़ाया गया है। अधिसूचना के मुताबिक क्रूड सोयाबीन तेल पर आयात शुल्क को 12.5 फीसदी से बढ़ाकर 17.5 फीसदी किया गया है।

यह भी पढ़े: यहां जिंदा लोगों को किया जाता है कब्र में दफन!
देश में तेल और तिलहन इंडस्ट्री ने सरकार के इस कदम का स्वागत किया है। इंडस्ट्री के संगठन सॉल्वेंट एक्सट्रैक्टर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के कार्यकारी निदेशक बी वी मेहता के मुताबिक आयात शुल्क बढ़ने से घरेलू स्तर पर तिलहन की कीमतों में इजाफा होगा जिससे किसानों को खरीफ तिलहन के अच्छे दाम मिलेंगे। उन्होंने बताया कि इंडस्ट्री क्रूड और रिफाइंड पाम ऑयल पर लगने वाले आयात शुल्क के बीच के अंतर को 15 फीसदी करने की मांग कर रही थी ताकि रिफाइंड का आयात कम हो और घरेलू स्तर पर इंडस्ट्री क्रूड तेल को खुद रिफाइन करे। सरकार ने इस अंतर को 7.5 फीसदी से बढ़ाकर 10 फीसदी किया है जो इंडस्ट्री की मांग से तो कुछ कम है लेकिन फिर भी इंडस्ट्री इसका स्वागत करती है। उन्होंने बताया कि सरकार के इस कदम से घरेलू स्तर पर मेक इन इंडिया कार्यक्रम में मदद मिलेगी।

वनस्पति तेल पर आयात शुल्क में बढ़ोतरी से किसानों और उद्योग को तो फायदा हो सकता है लेकिन इससे उपभोक्ताओं की जेब खाली होगी। देश में खपत होने वाले कुल वनस्पति तेल का करीब 60 फीसदी हिस्सा विदेशों से आयात करना पड़ता है। नवंबर 2016 से शुरू हुए आयल वर्ष 2016-17 में जून अंत तक देश में 96,11,958 टन खाद्य तेल का आयात हो चुका है जिसमें 19,03,056 टन रिफाइंड तेल है और 77,08,902 टन क्रूड खाद्य तेल है।इन दोनो तेलों पर ही आयात शुल्क बढ़ा है, यानि इन दोनो की कीमतों में इजाफा होने की आशंका बढ़ गई है।

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.