loading...
loading...
loading...
भारत में क्रिकेट खेल साथ साथ धर्म भी प्रशासन की सख्ती के बावजूद फिर अवैध रूप से गर्भपात संकल्प कैंप में बच्चों को गुरुबाणी, गुरु इतिहास और रहित मर्यादा बारे जानकारी दी पेय पदार्थ के नाम पर दुकानदार परोस रहे है जहर भारत और विश्व के इतिहास में 27 जून की प्रमुख घटनाएं रेशा देवी ने कहा- युवाओं को नशे से दूर करने के लिए धर्म के साथ जोड़े दार्जिलिंग: भारी बारिश और बंद के माहौल में मुस्लिमो ने मनाया ईद-उल-फितर रमन शर्मा ने कहा- अापातकाल देश के इतिहास में काला दिन खाना खजाना प्रतियोगिता में महिलाओं ने दिखाया उत्साह कंडबाड़ी में NGO परिवर्तन द्वारा स्वास्थ्य शिविर का आयोजन बालड़ी रक्षक योजना ने तोडा दम स्वास्थ्य को लेकर महिलाओं का उदासीन रवैया इफ्तार पार्टी है नौटंकी, इसकी हमे क्या जरूरत: गिरिराज सिंह 2018 से बदल सकता है वित्त वर्ष, इस साल नवंबर में पेश हो सकता है बजट WWC 2017: ऑस्ट्रेलिया का विजयी आगाज, इंडीज को दी 8 विकेट से शिकस्त दिल्ली के नामी ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी के वेयर हाउस में 37 लाख रुपये की लूट 3 जुलाई को भोपाल में होगा ग्लोबल स्किल पार्क का शिलान्यास: चौहान मोदी के सपोर्ट में न्यूड होने वाली हॉट एक्ट्रेस ने थामा एनसीपी का दामन बैंक मैनेजर पिता 6 माह से कर रहा था अपनी बेटी के साथ ऐसा शर्मनाक काम ... भोपाल में पंचायती राज मंत्रियों का सम्मेलन 27 जून को होगा आयोजित
1 करोड़ रुपये के सौदे पर ब्रोकर शुल्क कम कर सकता है सेबी
sanjeevnitoday.com | Thursday, January 12, 2017 | 02:31:57 PM
1 of 1

नई दिल्ली। पूंजी बाजार नियामक सेबी एक करोड़ रुपये  के सौदे के लिये ब्रोकर शुल्क कम कर 15 रपये करने पर विचार कर रहा है। यह विभिन्न बाजार मध्यस्थों से नियामक को मिलने वाले विभिन्न शुल्कों की समीक्षा का हिस्सा है। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड सेबी ब्रोकर शुल्क में कमी के बावजूद अपनी शुल्क आय में वृद्धि की उम्मीद कर रहा है l

 

 सूत्रों के मुताबिक, सेबी इस सप्ताह इस प्रस्ताव पर विचार करेगा। प्रस्ताव के जरिये बाजार नियामक एक करोड़ रुपये के सौदों के लिये ब्रोकर शुल्क 20 रपये से कम कर 15 रुपये करेगा। यह ब्रोकरों और बाजार प्रतिभागियों की लंबे समय से मांग है। क्योंकि कुछ नये निश्चित शुल्क लगाये जाएंगे जिसमें मसौदा योजना की व्यवस्था के लिये फाइलिंग शुल्क तथा कुछ नियमनों में ढील के लिये आवेदन पर प्रसंस्करण शुल्क शामिल हैं।

इसके अतिरिक्त नियामक नियामकीय कार्यों के लिये लगने वाले अन्य शुल्कों की भी समीक्षा करेगा।  इस कदम से सौदे की कुल लागत में कमी आएगी, निवेशकों को लाभ होगा और प्रतिभूति बाजार के विकास को बढ़ावा देने में सुविधा मिलेगी। 

यह भी पढ़े: हाथ नहीं है, लेकिन पियानो बजाने से लेकर हवाई जहाज तक उड़ा लेती हैं ये लड़की!

यह भी पढ़े: इस शख्स ने बनवाया अपने कुत्ते का आधार कार्ड, पुलिस ने किया गिरफ्तार!

यह भी पढ़े: इस शख्स को महंगा पड़ा FB पर अपने कुत्ते से शादी करने का ऐलान, गवाई नौकरी!

यह भी पढ़े: जुड़वा बच्चे: एक को चोट लगती है तो दूसरे को होता है दर्द, डॉक्टर भी हैं हैरान

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.