बंपर भर्तियां! टेलीकॉम सेक्टर इस साल ला सकता है 20 लाख नौकरियां घर लौट रही किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म, एक गिरफ्तार, दो फरार मुंबई मनपा चुनाव : सीटों के बंटवारे को लेकर भाजपा-शिवसेना की बैठक रही बेनतीजा बिग बॉस में मोना बनेगी दुल्हनियां एक फरवरी को ही पेश होगा आम बजट ! 105 अप्रचलित एवं अनावश्यक कानून होंगे निरस्त पांच चुनावी राज्यों से 64 करोड़ की नकदी, 8 करोड़ के नशीले पदार्थ जब्त सलमान से नाराज सिंघम, जानिए क्यों तमिलनाडु: जलीकट्टू के समर्थन में प्रदर्शन, हाई कोर्ट ने दखल देने से किया इंकार यूपी में "कल्याण" की रणनीति पर अमल कर रही है भाजपा, ओबीसी मतदाताओं को रिझाने का चलेगी दांव सलमान को 18 साल पुराने दर्द से पांच मिनट में मिली छुट्टी 20 साल का इंतजार खत्म, भारतीय सेना को जल्द मिलेंगे बुलेट प्रूफ हेलमेट खुल्लम खुल्ला: ऋषि कपूर ने किया खुलासा, पैसे देकर खरीदा था बेस्ट एक्टर अवॉर्ड बसपा के खाते में जमा सौ करोड़ पर तीन माह में निर्णय ले निर्वाचन आयोग : उच्च न्यायालय राज्य सरकार सिफारिश करे तो जायरा को मिलेगी सुरक्षा: किरण रिजिजू कुमार विश्वास ने भाजपा में शामिल होने की अटकलों का उड़ाया मजाक मायके में महिला की गला रेत कर हत्या पैंटीन का अंतर्राष्ट्रीय चेहरा बनने वाली भारत की पहली एक्ट्रेस बनी प्रियंका इस युवक से परेशान होकर सपना ने किया था 'सुसाइड' का प्रयास कार खरीदने निकले तीन लोगों से 15 लाख की लूट
1 करोड़ रुपये के सौदे पर ब्रोकर शुल्क कम कर सकता है सेबी
sanjeevnitoday.com | Thursday, January 12, 2017 | 02:31:57 PM
1 of 1

नई दिल्ली। पूंजी बाजार नियामक सेबी एक करोड़ रुपये  के सौदे के लिये ब्रोकर शुल्क कम कर 15 रपये करने पर विचार कर रहा है। यह विभिन्न बाजार मध्यस्थों से नियामक को मिलने वाले विभिन्न शुल्कों की समीक्षा का हिस्सा है। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड सेबी ब्रोकर शुल्क में कमी के बावजूद अपनी शुल्क आय में वृद्धि की उम्मीद कर रहा है l

 

 सूत्रों के मुताबिक, सेबी इस सप्ताह इस प्रस्ताव पर विचार करेगा। प्रस्ताव के जरिये बाजार नियामक एक करोड़ रुपये के सौदों के लिये ब्रोकर शुल्क 20 रपये से कम कर 15 रुपये करेगा। यह ब्रोकरों और बाजार प्रतिभागियों की लंबे समय से मांग है। क्योंकि कुछ नये निश्चित शुल्क लगाये जाएंगे जिसमें मसौदा योजना की व्यवस्था के लिये फाइलिंग शुल्क तथा कुछ नियमनों में ढील के लिये आवेदन पर प्रसंस्करण शुल्क शामिल हैं।

इसके अतिरिक्त नियामक नियामकीय कार्यों के लिये लगने वाले अन्य शुल्कों की भी समीक्षा करेगा।  इस कदम से सौदे की कुल लागत में कमी आएगी, निवेशकों को लाभ होगा और प्रतिभूति बाजार के विकास को बढ़ावा देने में सुविधा मिलेगी। 

यह भी पढ़े: हाथ नहीं है, लेकिन पियानो बजाने से लेकर हवाई जहाज तक उड़ा लेती हैं ये लड़की!

यह भी पढ़े: इस शख्स ने बनवाया अपने कुत्ते का आधार कार्ड, पुलिस ने किया गिरफ्तार!

यह भी पढ़े: इस शख्स को महंगा पड़ा FB पर अपने कुत्ते से शादी करने का ऐलान, गवाई नौकरी!

यह भी पढ़े: जुड़वा बच्चे: एक को चोट लगती है तो दूसरे को होता है दर्द, डॉक्टर भी हैं हैरान

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.