AC में रहने की आदत आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक पनीर खाने का सही समय और फायदे घंटो तक गेम खेलना स्वास्थ्य के लिए खतरनाक कपूर के तेल से दूर करे डैंड्रफ की समस्या आपकी बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करेगा ये फेस पैक महिला सशक्तिकरण की प्रतीक हैं मिताली राज : शिवराज सिंह विश्व बैंक की टीम के सदस्यो ने की शिक्षा मंत्री देवनानी से मुलाकात 78 हजार निजी विद्यालयों के अप्रशिक्षित शिक्षकों को भी करनी होगी टीचर ट्रेनिंग प्रो कबड्डी लीग 2017: तमिल थलाइवाज और हरियाणा स्टीलर्स का मुकाबला 25-25 से रहा ड्रा बांग्लादेश में जाने ले रहा है बाढ़, 30 की मौत लाल किला पर रही राजस्थानियो की धूम, जयहिंद के साथ जय जय राजस्थान की रही गूंज... BCCI के शीर्ष अधिकारियों को हटाने की सीओए ने SC से की मांग हिजबुल मुजाहिदीन को अमेरिका ने विदेशी आतंकवादी संगठन किया घोषित INDvsSL: वनडे सीरीज में रोहित शर्मा बने उपकप्तान, कहा- मौके का उठाऊंगा फायदा जयपुर की कई कॉलोनियों में शुक्रवार को नहीं होगी बीसलपुर पानी की सप्लाई तिरंगे के सम्मान में नक्सली भी पीछे नहीं, दी सलामी टीम इण्डिया के ‘गब्बर’ श्रीलंका की सड़को पर ऑटो चलाकर उठा रहे है लुफ्त इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय का स्वच्छता पखवाड़ा सम्पन्न जम्मू-कश्मीर में 12 जगहों पर मारा छापा, सात लोगों को किया गिरफ्तार शारापोवा को मिली वाइल्ड कार्ड इंट्री, यूएस ओपन में खेलेगी पहला ग्रैंड स्लेम
नोटबंदी के बाद सुस्ती से जूझी इकोनॉमी, फैक्ट्रियों का आउटपुट रहा नकारात्मक
sanjeevnitoday.com | Saturday, August 12, 2017 | 07:35:53 AM
1 of 1

नई दिल्ली। नोटबंदी के बाद सुस्ती से जूझ रही देश की इकोनॉमी का खराब प्रदर्शन जून में भी जारी रहा। शुक्रवार को जारी आंकड़ों के अनुसार जून में औद्योगिक उत्पादन (इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन) ग्रोथ 1.7 फीसदी से घटकर -0.1 फीसदी रही है।
बता दें कि आईआईपी वैसा इंडेक्स होता है, जिसकी मदद से माइनिंग, इलेक्ट्रिसिटी और मैन्युफैक्चरिंग समेत अर्थव्यवस्था के अन्य अहम सेक्टर के ग्रोथ का आकलन किया जाता है।
साल 2017 के जून महीने के दौरान इंडस्ट्री की ग्रोथ में गिरावट देखने को मिली है। मासिक आधार पर जून महीने के दौरान आईआईपी ग्रोथ 1.7 फीसद से घटकर -0.1 फीसद रही है। मासिक आधार पर जून में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की ग्रोथ 1.2 फीसद से घटकर -0.4 फीसद रही है। वही माइनिंग सेक्टर की ग्रोथ में भी गिरावट हुई है और यह मई के -0.9 फीसद के मुकाबले 0.4 फीसद हो गई है।

यह भी पढ़े: यहां जिंदा लोगों को किया जाता है कब्र में दफन!

अप्रैल-जून तिमाही में औद्योगिक उत्पादन वृद्धि घटकर 2 फीसदी रह गई जो कि पिछले साल समान तिमाही में 7.1 फीसदी रही थी। गौरतलब है कि मई के आर्थिक आंकड़ों में भी आईआईपी के आंकड़े बेहद कमजोर रहे। मई में इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन(आईआईपी) के आंकड़े अप्रैल के 3.1 फीसदी के स्तर से गिरकर मई में महज 1.7 फीसदी थे।
जानकारों के अनुसार वस्तु और सेवा कर के लागू होने, अहम क्षेत्रों में वृद्धि दर कम रहने, नोटबंदी का असर अभी भी खत्म न होने और आधार अवधि का प्रभाव उच्च रहने के चलते जून में औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) का प्रदर्शन खराब रहा है।

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.