करीब 160 किलोमीटर गलत रूट पर चली गई ट्रेन, जाना था महाराष्ट्र पहुंच गई मध्यप्रदेश इस भिखारिन ने मंदिर को दान दिए इतने पैसे, जिसे सुन हर कोई रह गया दंग OMG: पब्लिकसिटी पाने के लिए अर्शी खान ने बोले इतने झूट, मां ने किया खुलासा 50वां शतक लगाते ही टॉप टेस्ट रैंकिंग में शामिल हुए कोहली हार्दिक ने कहा, अगले ढाई साल तक कोई भी पार्टी नहीं करूंगा ज्वाइन दक्षिण कश्मीर के शोपियां अस्पताल से ATM मशीन चोरी एसएमएस भेजने के मामले में सबसे बड़ा है यह बैंक फल खाने से बच्चों की तबियत हुई खराब, 4 बच्चों की हालत नाजुक पद्मावती को लेकर CM योगी बोलें- भंसाली भी धमकी देने वाले समूहों की तरह दोषी पेटीएम अधिकारी बनकर धोखाधड़ी करने वाला शख्स हुआ गिरफ्तार IPL में क्रिकेटरों की नीलामी, टीम मालिकों में मतभेद भाजपा प्रत्याशी के दफ्तर के सामने युवक की गोली मारकर कर दी हत्या पहली भारतीय महिला डाॅक्टर रुखमाबाई को Google ने दिया सम्मान 'चायवाले' ट्वीट पर भड़के परेश रावल, कहा- बार-वाला से बेहतर है हमारा चायवाला खून से सने पहाड़ियों में मिले 3 बच्चों के शव, जानिए पूरा मामला प्रद्युम्न हत्याकांड मामले में आज आरोपी स्टूडेंट्स की कोर्ट में होगी पेशी मैक्सवेल और फिंच का बेथ मूनी ने तोड़ा रिकॉर्ड 'पद्मावती' की रिलीज डेट टलने से 'फिरंगी' के साथ इन फिल्मों की भी लगी लॉटरी सैंसेक्स में हुई बढ़ोतरी, निफ्टी 10350 के स्तर पर खुले में शौच करने वालों की शिक्षक करेंगे निगरानी
नोटबंदी के फैसले के बाद क्रेडिट और डेबिट कार्डों से लेनदेन केवल 7 फीसदी बढ़ा
sanjeevnitoday.com | Sunday, July 16, 2017 | 09:31:46 PM
1 of 1

नई दिल्ली। केंद्र सरकार की ओर से लिए नोटबंदी के फैसले के बाद डिजिटल लेने देन में भारी बढ़ोतरी हुई है लेकिन एक शीर्ष अधिकारी के अनुसार क्रेडिट और डेबिट कार्डों के जरिये लेनदेन में मात्र सात प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है हालांकि कुल डिजिटल ट्रांजेक्शन में 23 फीसद का उछाल देखने को मिला है। एक सरकारी अधिकारी ने यह जानकारी संसदीय समिति को दी है। गौरतलब है कि नोटबंदी का फैसला केंद्र सरकार ने बीते साल 8 नवंबर को लिया था।

नोटबंदी और डिजिटल अर्थव्यवस्था की ओर बदलाव पर संसद की वित्त पर स्थायी समिति के समक्ष कई मंत्रालयों के अधिकारियों ने प्रेजेंटेशन दिया था। संसदीय समिति को दी गई इस जानकारी में अधिकारी ने कहा कि सभी माध्यमों से डिजिटल लेनदेन नवंबर, 2016 के 2.24 करोड़ से 23 फीसद बढ़कर मई, 2017 में 2.75 करोड़ हो गया। सबसे ज्यादा इजाफा यूपीआई से लेनदेन में हुआ। यह नवंबर, 2016 के 10 लाख प्रतिदिन से बढ़कर मई, 2017 में तीन करोड़ प्रतिदिन पर पहुंच गया।
 
यूपीआई या यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस ऐसी प्रणाली है जिसमें कई बैंक खातों को एकल मोबाइल अप्लिकेशन में जोड़ा जा सकता है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक आईएमपीएस या तत्काल भुगतान सेवा के जरिए लेनदेन इस अवधि में 12 लाख से बढ़कर 22 लाख हो गया। यह इलेक्ट्रॉनिक तरीके से पैसे ट्रांसफर करने वाली सर्विस है। वहीं सबसे कम इजाफा प्लास्टिक कार्ड के जरिए लेनदेन में हुआ। नवंबर, 2016 के 68 लाख के आंकड़े से यह मई 2017 तक मात्र सात फीसद इजाफे के साथ 73 लाख तक ही पहुंचा।



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.