भारतीय पहलवान का पहला दिन खराब, पहले ही दौर में हारे एफआईआर की प्रति अब मिलेगी ऑनलाईन, जानिए कैसे बूढादीत में स्थित प्राचीन सूर्य मंदिर को बनाया निशाना, आरोपियों को पकड़ा कैसे रूक पायेंगे रेल हादसे ? कपिल शर्मा ने सिद्धू के साथ मनमुटाव पर अपनी तोड़ी चुप्पी संदेश ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्हें बड़ी लीग में खेलना चाहिए: कांस्टेनटाइन काश कि रेल बजट तकनीक केन्द्रित होता राजस्थान ने लॉन्च की 'हैलो इंग्लिश प्रिमियम' एप, अंग्रेजी ज्ञान को बनाएगी बेहतर अतिक्रमण हटाने गए नगर परिषद के कर्मचारियों पर चले लात घूसे एटीपी रैंकिंग में एंडी मरे को पछाड़ नडाल टॉप पर "फिल्मों का बदलता ट्रेंड " सरकार ने बढ़ाई भीम कैशबैक योजना की अवधि, मार्च तक मिलेगा कैशबैक तीन तलाक मुद्दे पर कल सुप्रीम कोर्ट लेगा अहम फैसला मिताली राज का करारा जवाब, कहा- मैंने मैदान पर पसीना बहाया एक्सकेवेटर मशीन की चपेट में आने से गई मासूम की जान राष्ट्रपति ने किया लेह का दौरा, दिल्‍ली से बाहर उनकी प्रथम यात्रा इंडीज क्रिकेट बोर्ड ने दी पाक दौरे को मंजूरी, खेलेंगे T20 इंटरनेशनल मैच विपक्ष की एकता में मायावती ने डाली फुट, लालू की रैली में नहीं होगी शामिल बाइक सवार दो बदमाशों ने महज 57 सैकंड में उड़ाए 57 लाख गर्ल्स टॉयलेट में रिकॉर्डिंग के लिए छिपाया मोबाइल, कोई और नहीं बल्कि स्कूल का ही चौकीदार
लीजिये अब डरवानी फिल्मे करेंगे वजन घटाने में मदद
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 10:01:59 AM
1 of 1

लंदन। वजन घटाने के कई तरीकों के बारे में आपने सुना होगा और संभव है कि अमल भी करते होंगे। पर यह तकनीक बिल्कुल नई और अनोखी है। हालिया हुए एक अध्ययन में कहा गया है कि एक डरावनी फिल्म देखने से उतनी ही कैलोरी की खपत होती है जितना कि आधे घंटे सैर करने से।  सूत्रों के मुताबिक शोधकर्ताओं ने अध्ययन में पाया कि डेढ़ घंटे की डरावनी फिल्म देखने से औसतन 113 कैलोरी की खपत होती है। इन डरावनी फिल्मों की एक सूची भी बनाई गई है, जिसमें 1980 में आई हॉरर फिल्म द शाइनिंग को शीर्ष स्थान दिया गया है। शोधकर्ताओं ने पाया कि यह फिल्म देखने के दौरान दर्शकों ने औसतन 184 कैलोरी खर्च की। सूची में जॉज को दूसरे स्थान पर रखा गया है, जिसे देखने के दौरान लोगों ने करीब 161 कैलोरी खर्च की। 

 यूनिवर्सिटी ऑफ वेस्टमिंस्टर के शोधकर्ताओं ने दस लोगों को अलग-अलग हॉरर फिल्म दिखाई। इस दौरान उनकी दिल की धड़कन, ग्रहण की गई ऑक्सीजन और बाहर निकाली गई कार्बन डाइआक्साइड की दर पर नजर रखी। शोधकर्ताओं का कहना है कि फिल्म के जिन दृश्यों को देखते हुए दर्शक डर जाते हैं वह कैलोरी को नष्ट करने के लिए सबसे उपयुक्त होते हैं। प्रमुख शोधकर्ता रिचर्ड मैकेंजी ने कहा कि डरावनी फिल्मों को देखते समय नसें तन जाती है, दिल की धड़कन तेज हो जाती है। साथ ही पूरे शरीर में तेजी के साथ खून का संचार होने लगता है। इस दौरान शरीर में एड्रिनल हार्मोन का स्राव काफी तेजी से होता है जो बेसल मेटाबौलिक दर को बढ़ा देता है और कैलोरी को काफी मात्रा में खर्च कर देता है। 

कैलोरी को खर्च करने वाली शीर्ष हॉरर फिल्में 

 द शाइनिंग -184 कैलोरी 

 जॉज-161 कैलोरी 

 द एक्जोरजिस्ट 158 कैलोरी 

 सॉ -133 कैलोरी 

 ए नाइटमेयर ऑन इल्म स्ट्रीट-118 कैलोरी 

 पैरानॉर्मल एक्टीविटी-111 कैलोरी 

 द ब्लेयर विच प्रोजेक्ट-105 कैलोरी 

 द टेक्सास चेन सॉ मास्कर-107 कैलोरी

यह भी पढ़े: फूड आइटम की बिक्री दुगनी हो जाती है जब ये मॉडल छोटे कपडे पहन कर करती है दुकानदारी..!

यह भी पढ़े: चमत्कारी पहाड़ ! आज भी खुद ब खुद ऊपर की और चलने लगती है गाड़िया ... छुपी है रहस्यमहि ताकत

यह भी पढ़े: VIDEO: जब बीच सड़क पर गाने पर अचानक ही ये लड़का-लड़की करने लगे DANCE!

यह भी पढ़े : रोज-रोज होता था पेट दर्द, चेक करवाया तो निकला कंडोम, डाक्टर भी चौंक गये

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.