loading...
तीन तलाक़ मसले पर AIMPLB ने हलफनामा दायर किया, कहा तीन तलाक़ बंद हो कश्मीरी युवक को जीप पर बांधने वाले प्रकरण की जांच करेगी जम्मू-कश्मीर सरकार चैंपियंस ट्रॉफी में इन दिग्गज खिलाड़ियों पर रहेगी खास नजर चांदनी चौक में 80 दुकानें जलकर हुई खाक आग बुझाने आई स्पेशल क्रेन पर चढ़ी विधायक,लगे मुर्दाबाद के नारे 'गदर-एक प्रेमकथा' के सामने कुछ भी नहीं 'बाहुबली 2': अनिल शर्मा स्पिनफैड की चार यूनिटें होगी बंद, 1,099 अधिकारी-कर्मचारियों को स्वैच्छिक सेवानिवृति के लिए स्वीकृति प्रदान की उदारवादी हसन रूहानी की जीत कितनी फायदेमंद है भारत-ईरान रिश्तों के लिए मुंबई इंडियंस की जीत पर फिदा हुए ट्रिपल एच ने बधाई के रूप में दिया यह तोहफा देर रात रेस्टोरेंट पर छापा सदिंग्ध अवस्था में मिले तीन युवक व चार युवतिया को किया गिरफ्तार भारतीय सेना के तीस सेकंड और PAK सेना की चौकियां तबाहः प्रियंका की 'बेबॉच' को भारतीय सेंसर बोर्ड ने 'A' सर्टिफिकेट के साथ दी हरी झंडी IPL10 : इस खिलाडी ने चुकाई पूरी कीमत, फाइनल खेलते तो बदल.... तारा शाहदेव केस:सास और पति ने धर्म परिवर्तन नहीं करने पर किया शारीरिक शोषण 2030 तक सड़कों पर दौड़ेगी इलैक्ट्रिक गाड़ियां, पेट्रोल-डीजल की गाड़ियां होगी बंद पाकिस्तान को डोनाल्ड ट्रम्प ने दिया बड़ा झटका, आर्थिक मदद को कर्ज में तब्दील करने का रखा प्रस्ताव राजस्थान आवासन मण्डल की गणित आर्यभट्ट की भी समझ से बाहर, जाने क्या है मामला ! मुंबई की विजेता नीता अंबानी ने दी ग्रैंड पाटी, पहुंचे कई सितारे 'सचिन ए बिलीयन ड्रीम्स' के लिए सचिन को बॉलीवुड सितारों ने दी शुभकामनाएं क्या वजह है अफ्रीकी देशों से पीएम मोदी की इतनी नजदीकी बढ़ाने की ? लूट के पैसो से क़र्ज़ चुकाने जा रहे आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार
फैशन नही है ये ! टहनियों पर ब्लूटूथ से बात करते है यहाँ के जवान
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 08:44:53 PM
1 of 1

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से करीब 80 किमी दूर धमतरी के बहीगांव सीआरपीएफ कैंप में मोबाइल नेटवर्क ठीक से नहीं आता। दरअसल, यहां नक्सल प्रभावित इलाके मेचका, सिहावा, खल्लारी व बोराई में बने बेस कैंपों के आसपास कोई मोबाइल टावर नहीं है। इस कारण इलाके में पोस्टेड सीआरपीएफ जवान मोबाइल होने के बावजूद घरवालों, दोस्तों और दुनिया से किसी भी तरह का कॉन्टैक्ट नहीं रख पाते।इस मुश्किल से निपटने के लिए जवानों ने कैंप के बाहर पेड़ों पर करीब 30-40 फीट ऊपर टहनियों में रस्सी बांध रखी है। जब उन्हें किसी से मोबाइल पर बात करनी होती है, तो वे पहले मोबाइल को मोजे में डालकर रस्सी से बांध देते हैं। फिर कॉल डायल कर रस्सी के दूसरे छोर को खींच लेते हैं। अब मोबाइल ऊपर चला जाता है। वह पेड़ के नीचे कान में ब्लूटूथ लगाकर घंटों खड़े रहते हैं। ऊंचाई पर जाने से सिग्नल आ जाता है और वे पत्नी-बच्चों से बात कर पाते हैं।

2009 से तैनात हैं यहां जवान
यहां के बिरनासिल्ली कैंप में तैनात जवान बताते हैं कि मोबाइल में नेटवर्क नहीं आने से वे परिवार वालों से हफ्तों बात नहीं कर पाते हैं। ऐसे में घरवालों की चिंता उन्हें हमेशा सताती रहती है। खासकर तब जब घर पर कोई खास मौका हो या किसी की तबीयत खराब हो। नक्सली हमलों की खबरें पढ़कर भी घरवाले हमेशा परेशान रहते हैं। ऐसे में यह जुगाड़ ही हम लोगों का सहारा है।  रिसगांव में 2009 में नक्सली हमला होने के बाद बिरनासिल्ली, मेचका और बोरई में कैंप बनाकर सीआरपीएफ जवानों को तैनात किया गया। नेटवर्क न होने से सर्चिंग के दौरान जवानों को एक-दूसरे और थानों से कॉन्टैक्ट करने में भी परेशानी होती है, हालांकि अब नेटवर्क समस्या को दूर करने के 22 स्थानों का सर्वे किया गया है।

 

यह भी पढ़े: ये है दुनिया के सबसे पेचीदा 21 तथ्य जिनका जानना बेहद जरुरी... पढ़े एक बार

यह भी पढ़े: नाक में क्यों होते है दो छेद? जाने वजह

यह भी पढ़े: जिंदगी भर के लिए छिन गयी इस लड़की की हंसी... पढ़ना ना भूले

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.