दीपावली के मौके पर हुए विशेष मुहूर्त कारोबार में गिरे सोने-चांदी के भाव दिल्ली में दिवाली के मौके पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश कीउड़ाई धज्जियां उड़ाई रिलायंस जियो का धन धना धन पैक हुआ महंगा 399 की जगह देने होंगे 459 राष्ट्रपति कोविंद ने दीपावली की पूर्व संध्या पर देशवासियों को दी बधाई वीडियो : PM मोदी ने सेना के जवानों के साथ मनायी दिवाली मैरिलैंड के बिजनेस पार्क में हुई गोलीबारी में एक संदिग्ध बंदूकधारी गिरफ्तार कंधार में सेना के कैंप पर तालिबान ने किया आत्मघाती हमला, भारत ने दी कड़ी प्रतिक्रिया भारत से हमारी ऐसी दोस्ती 100 साल तक चले : अमेरिका मंदिर में दिया जलाने गये बालक को जिंदा जलाया... ईपीएफओ ने यूएएन को ऑनलाईन से आधार जोड़ने की नई सुविधा दी इस कुत्तें की कीमत जानकर आपके उड़ जाएंगे होश भ्रष्टाचार केस : नवाज शरीफ और उनकी बेटी-दामाद पर आरोप तय, हो सकती है जेल पिछले 80 सालों से दुकान में बंद है दुल्हन का मोम का पुतला यहां मन्नत पूरी होने पर श्रद्धालु कराते हैं बेड़नियों का नाच भारत में ही नहीं विश्व के इन देशो में भी मनाया जाता है दिवाली की त्यौहार पुराने सेकंड हैंड सोफे ने बना दिया लखपति, जानिए कैसे? दीपावली विशेष : जानिए, मां लक्ष्मी और गोवर्धन पूजा का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि इस्लामिक स्टेट ने चोर को दी ऐसी खौफनाक सजा, देखें फोटोज विद्युत एमनेस्टी योजना : 31 दिसम्बर तक बकाया राशि एकमुश्त जमा कराने पर ब्याज व पेनल्टी में छूट अब एक और बाबा पर लगा अवैध सम्बन्ध का आरोप, उठाया ये खौफनाक कदम...
खतरनाक जानवर को पलक झपकते ही पकड़ लेता ये युवक, पकडऩे में हासिल है महारत
sanjeevnitoday.com | Wednesday, November 30, 2016 | 12:20:43 PM
1 of 1

करौली। गोयरे को बेहद जहरीला माना जाता है। लोगों का मानना है कि गोयरे के काटने के तीन-चार मिनट में ही मौत हो जाती है। वहीं, राजस्थान में करौली के गुमान सिंह जाट (40) को गोयरा पकडऩे में महारत हासिल है। गुमान सिंह गोयरे को पलक झपकते ही पकड़ लेते हैं। वे गोयरे के मुंह को अपने मुंह में दबा लेते हैं तो यह देखने वाला हर कोई दांतों तले अंगुली दबाने को मजबूर हो जाता है। 

यही नहीं, गुमान सिंह गोयरे की जीभ को पकडक़र बाहर निकाल लेते हैं। हिंडौन उपखंड के क्यारदाखुर्द गांव निवासी गुमान सिंह अभी तक तीन हजार से ज्यादा गोयरे पकड़ चुके हैं। गुमान ने ये सभी गोएरे लोगों के घरों से पकड़े हैं। इन्हें वह जंगल में ले जाकर छोड़ देते हैं। क्यारदाखुर्द निवासी रामचरण जाट के पुत्र गुमान सिंह ने बताया कि वे करीब पांच साल से यह कार्य कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि बाबा जयगुरुदेव मथुरा वाले के सान्निध्य में उन्होंने गोयरा पकडऩे की महारत प्राप्त की। 

गुमान सिंह ने बताया कि गोयरा जंगल में रहता है, लेकिन वह कई बार कॉलोनियों में आ जाता है और लोगों के घरों में घुस जाता है। इससे लोगों में डर बैठ जाता है। कई बार तो लोग गोयरे के कारण अपने घर में भी नहीं जा पाते हैं। गुमान सिंह ने बताया कि जब भी उन्हें सूचना मिलती है तो वे बताए स्थान पर पहुंच जाते हैं। वे वहां से कुछ ही देर में गोयरे को पकडक़र लोगों के डर को दूर करते हैं।

इस प्रकार वे अभी तक तीन हजार से ज्यादा गोयरे पकडक़र जंगल में ले ले जाकर छोड़ चुके हैं। खास बात यह है कि गुमान सिंह इसके बदले किसी एक भी रुपया नहीं लेते। गुमान सिंह ने बताया कि गोयरा मुख्य रूप से एक जगह स्थापित हो जाते हैं तो वे आसानी से अपनी जगह नहीं छोड़ते, इसलिए उन्हें दूर जंगल में छोड़ा जाता है।

यह भी पढ़े: ये है दुनिया के सबसे पेचीदा 21 तथ्य जिनका जानना बेहद जरुरी... पढ़े एक बार

यह भी पढ़े:सपने में भी कांपता था अकबर इस भारतीय योद्धा के नाम से ...

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

यह भी पढ़े: दुनिया के सबसे ठंडे महाद्वीप में पानी नहीं बल्कि बहता है खून, छिपे हैं कई राज



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.