loading...
जब तुलसीदास जी काशी में विद्वानों के मध्य बैठकर कर रहे थे भगवत्-चर्चा! फेफड़ों के कैंसर का इलाज तलाशने की दिशा में कामयाबी? 2020 तक हो पायेगा एड्स का रामबाण इलाज, यह नई दवा करेगी वायरस का खात्मा! यहाँ इंटरव्यू में लड़कियों से पूछा जाता हैं ये सवाल! कम उम्र में शारीरिक संबंध बनाने पर भुगतने पड़ सकते हैं ये खतरनाक परिणाम! Research: कई मुलाकातों और सामने वाले के व्यवहार से होता है सच्चा प्यार! जानिए महिलाएं क्यों करती हैं ऑर्गैजम का नाटक? क्या आप जानते है नाखूनों पर बने अर्ध चांद का मतलब? Alert: एड्स से भी ज्यादा खतरनाक बीमारी हैं "सेक्स सुपरबग", जानें लक्षण! खूबसूरत दिखने के लिए इस लड़की ने कर डाला अविश्वसनीय काम! आतंकवाद के जाल में फंसकर रह गयी हैं दुनिया: नरेंद्र मोदी रैसलमेनिया 33 से पहले अंडरटेकर को लेकर रोमन रेंस ने दिया ये बयान पीएम मोदी का मंत्रिमण्डल जनता की उम्मीदों पर खरा उतरा है, कांग्रेस अपने बड़बोलेपन के कारण विपक्ष में भी नहीं: राजनाथ अमेरिका: नस्लीय हमले के विरोध में भारतीय मूल के लोगों ने निकाली रैली दो घरों सहित आधा दर्जन जगहों से लाखों की चोरी एक अप्रैल तक बैंक शाखाओं के खुला रहने का बैंक यूनियन ने किया विरोध महापंचायत सामाजिक कुरीतियों को रोकने के लिए एक जुट दो महिलाओं की धारदार हथियार से हत्या BJP सांसद हुकुमदेव नारायण ने पटना एयरपोर्ट पर झाड़ा रौब, खाली बस लेकर पहुंचे प्लेन तक बड़े बडे वादे करके किसानों को गुमराह कर रही है BJP सरकार: कांग्रेस
शापित झील ! जो भी जाता है बन जाता है पत्थर, घोर श्राप है इस पर
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 10:40:02 AM
1 of 1

नई दिल्ली। आपने राजा मिडास की  कहानी तो जरुर सुनी होगी जो जिस चीज़ को भी छुता है वो सोने की बन जाती है लेकिन क्या आपने ऐसी झील के बारे में सुना है जिसके पानी को जो भी छुता है वो पत्थर बन जाता है? आज हम आपको एक ऐसी ही झील के बारे में बता रहे है यह है यह है उत्तरी तंजानिया की नेट्रान  लेक। फोटोग्राफर निक ब्रांड्ट जब उत्तरी तंजानिया की नेट्रान लेक की तटरेखा पर पहुंचे तो वहां के दृश्य ने उन्हें चौंका दिया। झील के किनारे जगह-जगह पशु-पक्षियों के स्टैच्यू नजर आए। वे स्टैच्यू असली मृत पक्षियों के थे। दरअसल झील के पानी में जाने वाले जानवर और पशु-पक्षी कुछ ही देर में कैल्सिफाइड होकर पत्थर बन जाते हैं।

Brandt अपनी नई फोटो बुक ‘Across the Ravaged Land’ में लिखते है की “कोई भी निश्चित रूप से नहीं जानता है की ये कैसे मरे पर लगता है की लेक की अत्यधिक रिफ्लेक्टिव नेचर ने उन्हें दिग्भ्रमित किया फलस्वरूप वे सब पानी में गिर गए। ” वो आगे लिखते है की ” पानी में नमक और सोडा की मात्रा  बहुत ही जयादा है, इतनी जयादा की इसने मेरी कोडक फिल्म बॉक्स की स्याही को कुछ ही सेकंड में जमा दिया। पानी में सोडा और नमक की ज्यादा  मात्रा इन पक्षियों के मृत शरीर को सुरक्षित रखती है।” वो अपनी किताब में आगे लिखते है ” सारे  प्राणी calcification के कारण चट्टान की तरह मजबूत हो चुके थे इसलिए बेहतर फोटो लेने के लिए हम उनमे किसी भी तरह का बदलाव नहीं कर सकते थे इसलिए फोटो लेने  के लिए हमने उन्हें वैसी ही अवस्था में पेड़ो और चट्टानों पर रख दिया।”

यह भी पढ़े: फूड आइटम की बिक्री दुगनी हो जाती है जब ये मॉडल छोटे कपडे पहन कर करती है दुकानदारी..!

यह भी पढ़े: चमत्कारी पहाड़ ! आज भी खुद ब खुद ऊपर की और चलने लगती है गाड़िया ... छुपी है रहस्यमहि ताकत

यह भी पढ़े: VIDEO: जब बीच सड़क पर गाने पर अचानक ही ये लड़का-लड़की करने लगे DANCE!

यह भी पढ़े : रोज-रोज होता था पेट दर्द, चेक करवाया तो निकला कंडोम, डाक्टर भी चौंक गये



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.