loading...
नवाजुद्दीन ने कराया अपना 'DNA टेस्ट', धर्म के नाम पर राजनीति करने वालों को दिया करारा जवाब IPL-10: 250 रुपए का क्रिकेट सट्टा हार गया तो नाबालिग ने बेरहमी से किया दोस्त का कत्ल पशु तस्करी मामले में केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में पेश की रिपोर्ट, UID नंबर जारी करने कि सिफारिश रेलवे की नई पहल 'उदय एक्सप्रेस', साधारण किराए पर लग्जरी जैसा सफर! क्रिकेट: क्रिकेट इतिहास में पहली बार बना ये शर्मनाक रिकार्ड, चीन की टीम महज 28 रन पर हुई ऑलआउट राज्य सरकार जल्द लागु करेंगी सभी विभागों में फाइल मॉनिटरिंग सिस्टम आज भारत में LG G6 स्मार्टफोन होगा लॉन्च, जानिए खासियत... ये कंपनी दे रही है 80 पैसे में 1 जीबी डाटा, जानिए... MCD चुनाव के एग्जिट पोल को देख घबराए केजरीवाल Video: देखिए, कैसे हुई बाहुबली-2 की शूटिंग और सेट डिज़ाइन? जुलाई से शुरू होगी डबल डेकर AC ट्रेन जयललिता के कोडनडु टी एस्टेट में चौकीदार की हुई हत्या रिपोर्ट: एयरटेल ने 4जी एलटीई OpenSignal के मामले में रिलायंस जियो को पछाड़ ऑटो चालक के बेटे को Free में मिला जस्टिन बीबर के कॉन्सर्ट का गोल्डन टिकट चुनाव आयोग ने केंद्र सरकार को लिखी चिट्ठी, कहा- चुनाव मेें रिश्वत देने वालों को किया जाए अमान्य घोषित Kawasaki ने भारत में Z250 का 2017 का वर्जन किया लॉन्च,जाने कीमत Video: देखिए, सलमान और माधुरी की अनदेखी तस्वीरें! Airtel लाया अपने यूजर्स के लिए दो शानदार ऑफर Video: देखिए, आखिर कौन था संजय लीला भंसाली की इस फिल्म की पहली पसंद? इतिहास गवाह है, जिसकी सुरक्षा कम की गई है, उसकी हत्या हो गई है: आजम
अगर आपको गुस्सा आता है, तो आप स्वस्थ हैं।
sanjeevnitoday.com | Wednesday, November 30, 2016 | 05:05:49 AM
1 of 1

 
नई दिल्ली: अत्यधिक क्रोध को जापानी लोग बेहतर जैविक स्वास्थ्य से जोड़कर देखते हैं। यूनिवर्सिटी ऑफ मिशिगन के मनोविज्ञानी शिनोबु कितायामा के मुताबिक, 'क्रोध को बुरे स्वास्थ्य से जोड़कर देखना आमतौर पर पश्चिमी संस्कृति का हिस्सा है, जहां गुस्से को निराशा, निर्धनता, निम्र जीवन स्तर और उन सभी कारकों से जोड़कर देखा जाता है, जो स्वास्थ को नुकसान पहुंचाते हैं।' आम तौर पर यह माना जाता है कि क्रोध तन और मन दोनों के लिए नुकसानदायक होता है, लेकिन शोधकर्ताओं का कहना है कि कुछ संस्कृतियों में गुस्सा बुरे नहीं बल्कि अच्छे स्वास्थ्य का संकेत होता है। 


क्रोध की भावना से जोड़कर देखा जाता रहा...
जापान में अत्यधिक क्रोध को जैविक स्वास्थ्य के खतरे के स्तर में गिरावट लाने और अच्छे स्वास्थ्य की निशानी से जोड़कर देखा जाता है। कितायामा ने कहा, 'इन अध्ययनों से पता चलता है कि सामाजिक-सांस्कृतिक कारक भी जैविक प्रक्रियाओं को महत्वपूर्ण ढंग से प्रभावित करते हैं।' यह अध्ययन जर्नल साइकोलॉजिकल साइंस में प्रकाशित हुआ है। शोधकर्ताओं ने अमेरिका और जापान में एकत्र किए गए आंकड़ों का अध्ययन किया। उन्होंने अच्छे स्वास्थ्य के स्तर को मापने के लिए उत्तेजना और ह्वदय से जुड़ी गतिविधियों का अध्ययन किया, जिन्हें पूर्व में किए गए शोधों में क्रोध की भावना से जोड़कर देखा जाता रहा है। अध्ययन में पाया गया कि अमेरिका में अत्यधिक क्रोध को जैविक स्वास्थ्य के लिए हानिकारक माना जाता है, जैसा कि पूर्व के शोधों में भी कहा गया है। 

यह भी पढ़े: नाक में क्यों होते है दो छेद? जाने वजह

यह भी पढ़े....पकडे गए फिल्मों को लीक करने वाले मुन्नाभाई

यह भी पढ़े: ये है दुनिया के सबसे पेचीदा 21 तथ्य जिनका जानना बेहद जरुरी... पढ़े एक बार

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.