loading...
चौथे टेस्ट में कोहली की जगह खेल सकता है ये बल्लेबाज स्कूल में डायरेक्टर और टीचर कर रहे थे रोमांस, फिर ऐसे आई सच्चाई सामने... आईपीएल-2017: पुणे टीम ने विश्व के नंबर-1 गेंदबाज़ को किया शामिल, मचा सकता है तहलका फिल्म 'सैराट' की एक्ट्रेस रिंकू राजगुरु के साथ हुई छेड़छाड़ आतंकवादी संगठन आईएस ने ली लंदन हमले की जिम्मेदारी, अब तक आठ गिरफ्तार मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने धौलपुर का दौरा किया भोपाल अपहरण मामले में 14 आरोपी गिरफ्तार महिला हॉकी राउंड-2: रानी का लक्ष्य विश्व लीग में टीम को शीर्ष पर पहुंचाना एयर इंडिया ने मैनेजर से मारपीट करने वाले शिवसेना सांसद रवींद्र गायकवाड़ को किया ब्लैकलिस्ट सिद्धि विनायक मंदिर में विद्या के साथ हुआ ये शर्मनाक इंसिडेंट, यूं दिया करारा जवाब लडकी के अपहरण के आरोप में दो लोग गिरफ्तार ऑफिस में आजम की तस्वीर देखकर भड़के यूपी के नए मंत्री मोहसिन रजा , PM और CM की फोटो लगाने का दिया आदेश सोनाक्षी सिन्हा पूछना चाहती है 'सुल्तान' से ये सवाल भोपाल में दिनदहाड़े युवक का अपहरण एयर एशिया 15 अप्रैल को रांची से हवाई सेवा करेगी शुरू यूपी के नए स्वास्थ्य मंत्री का ऐलान, एम्बुलेंस से हटेगा 'समाजवादी' शब्द गुजरात लॉयन्स टीम के मालिक को IPL का बेसब्री से इंतजार, जाने क्या है वजह? वर्षा से क्षतिग्रस्त सड़कों व भवनों के लिए 13 करोड़ 77 लाख की मदद : कटारिया कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन पर 8 घंटे रेलिंग से लटकती रही लाश, लेकिन किसी की भी नहीं पड़ी नजर नोटबंदी के बाद बार बार नियमो में बदलाव पर संसदीय समिति करेगी उर्जित पटेल से सवाल
COURT से न्याय की आस में 1000 किलोमीटर पैदल चला ये शख्स!
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 03:31:15 PM
1 of 1

दुबई। सार्वजनिक पार्क में रह रहे 48 वर्षीय एक भारतीय व्यक्ति ने स्वदेश लौटने के लिए विमान का टिकट हासिल करने के उद्देश्य से अदालती कार्यवाहियों में शामिल होने के लिए दो साल में 1,000 किलोमीटर से अधिक की पैदल यात्रा की है। उसके पास बस के टिकट तक के लिए पैसे नहीं थे।

तिरचिरापल्ली के मूल निवासी जगन्नाथ सेल्वराज दुबई के व्यस्त राजमार्गों पर गर्मी, धूल भरी आंधी और थकावट का सामना करते हुए अदालत की कार्यवाही में पहुंचा। वह सोनापुर में एक सार्वजनिक पार्क में रहता था और वहां से अदालत की एक तरफ की दूरी 22 किलोमीटर है।

सोनापुर से करामा तक बस यात्रा में कुछ दिरहम लगते हैं, लेकिन सेल्वराज के पास बस से यात्रा करने का पैसा नहीं था, जिससे उसे अदालत की प्रत्येक सुनवाई में शामिल होने के लिए एक तरफ की यात्रा में दो घंटे लगते थे। इन चार घंटों में उसने 44 किलोमीटर की यात्रा की और उसके मामले पर फैसला आने तक हर पखवाड़े उसे अदालत आना पड़ता।

यह भी पढ़े: रातों रात करोड़पति बना यह गांव... जानिए इसकी वजह!

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

यह भी पढ़े: नोटबंदी के बीच आईएएस अफसरों ने सिर्फ 500 रूपये में रचाई शादी

यह भी पढ़े: दुनिया के सबसे ठंडे महाद्वीप में पानी नहीं बल्कि बहता है खून, छिपे हैं कई राज



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.