आज का राशिफल (18 जनवरी 2017) सुल्तान कुतबुद्दीन ऐबक का इतिहास ये है ऐसा देश जहां मर्द करते है महिलाओ की गुलामी.. जानिये बंदर को भी टीवी देखने में आता है मजा... भारत के महान शहीदों और वीरो से संबंधित जानकारी और तथ्य ...तो जियो यूजर्स को 31 मार्च 2017 के बाद भी मिल सकती है फ्री सेवा इसलिए लिया भगवान श्री गणेश ने विकट अवतार बाप रे! इतनी ठंड की बर्फ में लोमड़ी तक जम गई... OMG यह है अजीबोगरीब परम्परा : यहाँ हजारों लोगों के बीच भस्म हुआ मंदिर... रिकार्ड बनाकर भी न्यूजीलैंड से हारा बांग्लादेश डि'विलियर्स ने अटकलों पर लगाया विराम, नहीं लेंगे किसी भी फॉर्मेट से सन्यास भूमि अधिग्रहण के खिलाफ हिंसक आंदोलन, फायरिंग में एक की मौत 9 बाइक चोर आठ बाइक के साथ रंगे हाथ पकडे गए... हार्दिक ने सरकार को ललकारा, कहा- आरक्षण नहीं देंगे तो छीन कर लेंगे ट्रेलर रिलीज : बोल्डनेस का सबूत देती है 'माया' रिश्वत लेते महिला कर्मी रंगेहाथ गिरफ्तार भारत अकेले शांति के रास्ते पर नहीं चल सकता: मोदी नहीं रहे चांद पर जाने वाले आखिरी व्यक्ति एक वीडियो ने रातों-रात बना दिया स्टार पाक सिंगर को... साईकिल को मिला हाथ का साथ, यूपी में महागठबंधन का फार्मूला तय: कांग्रेस 80, सपा 280 व आरएलडी को 20 सीटें
जुर्म के बदले सजा नही शराब मिलती है, पीछे है एक अजीब वजह
sanjeevnitoday.com | Tuesday, November 29, 2016 | 08:23:41 PM
1 of 1

नई दिल्ली। इस समाज के कानून में जूर्म चाहे जो हो, सजा या जुर्माने के तौर पर शराब मिलती है। मसलन, मारपीट की सजा, 2 बोतल शराब। चोरी की सजा, 5 बोतल शराब। किसी की हकमारी या उससे बड़े अपराध की सजा, 10 बोतल शराब। यहां चलकारी बस्ती में हर अपराध पर बतौर जुर्माना शराब पिलाने की सजा दी जाती है। अपराध छोटा हो तो जुर्माना 1 से 6 बोतल शराब और बड़ा हो तो 7 से 10 बोतल शराब। इस बस्ती के बड़े-बुजुर्ग बताते हैं कि आज तक इस बस्ती से कोई भी मामला थाना नहीं पहुंचा है। हर अपराध की सजा समाज खुद ही तय करता है। यहां अपराधी को पूरे समाज को शराब पिलानी पड़ती है। दरअसल इस समाज की संस्कृति में शराब बेहद महत्वपूर्ण चीज है।

शराब पिलाने का जुर्माना 

बिरोहर जाति की शादियों में बरातियों के समक्ष खाने के लिए केवल दो ही चीज परोसी जाती है. एक साग और दूसरा भात यानी चावल। लेकिन इन दो चीजों के साथ शराब का होना आवश्यक है। जब बच्चे का जन्म हो तो नाच-गाने के साथ शराब का दौर तब तक चलता है जब तक की नवजात की नाल ना गिर जाए। यहां जंगली जानवरों के शिकार करने के अपराध स्वरुप अजीबो गरीब सजाएं दी जाती है। अगर किसी ने सियार को मारा तो उसे एक मुर्गे की बलि देनी पड़ेगी। इसके अलावा उस पर शराब पिलाने का जुर्माना भी लगा सकता है। वहीं अगर किसी ने तेंदुआ को मार दिया, तो उसे बकरे की बलि देनी पड़ती है। साथ ही समाज उस पर 10 बोतल शराब का जुर्माना भी लगा सकता है।

यह भी पढ़े : OMG! उम्र 10 साल, वजन 192 Kg... इतना मोटा की दूर-दूर से देखने आते है लोग

यह भी पढ़े....पकडे गए फिल्मों को लीक करने वाले मुन्नाभाई

यह भी पढ़े : ऐसा केवल india में ही हो सकता है... देशी जुगाड़ देख मुस्कुरा देंगे आप !

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.