धोखाधड़ी कर 73 लाख रुपये हड़पे महिला विश्वकप 2017 : क्या मिताली राज की शेरनियां ला पायेगी विश्व कप? फिल्मों की दुनिया में आने के लिए करीना की 'जब वी मेट' ने किया आकर्षित: अनुष्‍का 30 किलो गांजे के साथ दो तस्करो को किया गिरफ्तार राशिफल : 23 जुलाई : कैसा रहेगा आपके लिए रविवार का दिन, जानने के लिए क्लिक करें देश और दुनिया के इतिहास के 23 जुलाई की महत्वपूर्ण घटनाएं युवक ने की महिला से छेड़छाड़, मामला दर्ज छेड़छाड़ की रिपोर्ट न लिखने पर इंस्पेक्टर के विरुद्ध मुकदमा दर्ज सफेद हाथी साबित हो रहा है औद्योगिक सुरक्षा एवं स्वास्थ्य निदेशालय स्वास्थ्य विभाग की देखरेख में हो बच्चों का टीकाकरण रामचंद्र चंद्रवंशी ने कहा- झारखंड राज्य को स्वास्थ्य के क्षेत्र में नंबर वन बनाएंगे समाज में संकुचित सोच ही नारी की सबसे बड़ी दुश्मन: गीता सहारण नागरिकों को खुद को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक होने की जरूरत स्वास्थ्य विभाग ने तीन निजी अस्पतालों पर छापा मारा शांति मानवता का मुख्य धर्म व युवा देश की रीढ़ की हड्डी हैं स्वास्थ्य मंत्री अजय चंद्राकर के खिलाफ लगाए मुर्दाबाद के नारे स्वास्थ्य विभाग ने फूड प्वाइज¨नग की आशंका जताई पाक ने सीमा पर फिर किया सीजफायर का उल्लंघन, 2 जवान शहीद वीडियो: योग टीचर पर कहर बनकर टुटा नारियल का पेड़, हुई मौत महिला हाॅकी विश्व लीग के सेमीफाइनल में पराजित होने के बाद भारत रही आठवें स्थान पर
50 हजार लोग डर के मारे छुपे है घरों में, डर है अनजान शक्ति का
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 09:52:52 PM
1 of 1

उत्तर प्रदेश। उत्तर प्रदेश के खीरी जिले में अजीबोगरीब पैरों के निशान मिलने से 50 हजार की आबादी खौफ़जदा है। शहर से सटे फूलबेहड़ इलाके में तीन दिनों से खेतों में ये भारी भरकम पांव के निशान मिलने से इलाके में सनसनी फैली हुई है। बुढ़नापुर गांव के बलबीर सिंह कहते हैं, 'साहब कोई दिखाई भी नहीं देता। लेकिन सुबह खेतों में ये अजीबोगरीब निशान दिखाई पड़ते हैं। आखिर इतने बड़े-बड़े पांव किसके हैं, समझ नहीं आ रहा। '

किसी को नहीं पता, किसके हैं निशान
फूलबेहड़ के बलवापुर, सफियापुर, मेंहंदी, महेवागंज आदि तमाम गांवों में इन निशानों से लोग खौफजदा हैं। खेतों में इस तरह से भारी-भरकम पैरों के निशान बने मिलने से लोग डरे हैं।
ये निशान किसके हैं यह रहस्य ही बना हुआ है। सरसों के खेत हों या गन्ने के खेत, आलू हो या गेंहू हर खेत में ये भारी-भरकम निशानों के मिलने से लोग सकते में हैं।

घरों में दुबके लोग
कोई इसे मकुना हाथी कह रहा है तो कोई इन निशानों को शैतान के पांव भी बता रहा है। खेत में पानी लगा रहे असलम कहते हैं समझ में नहीं आ रहा। इतने बड़े निशान आज तक हमलोगों ने नहीं देखे। कोई जानवर है या कोई बलाय ये भी नहीं पता। शहर और जिला मुख्यालय के पास तक पहुंच गए इन आदमकद पांव के निशानों से लोग हैरान हैं। सूर्यास्त होते ही लोग घरों में दुबक जा रहे हैं। लोग खेतों में काम पर नहीं जा रहे हैं। गेंहू को पानी नहीं लगा रहे और गंन्ने की छिलाई भी बन्द गई है हो।

प्रशासन को कोई खबर ही नहीं
करीब पचास हजार की आबादी और तीन दर्जन से ज्यादा गांवों में इन पैरों का खौफ सर चढ़कर बोल रहा है। दिलचस्प बात यह है कि प्रशासन इन खौफ के पैरों से अनजान है।
वाइल्ड लाइफ के जानकार डॉ। वीपी सिंह कहते हैं कि देखने पर ही पता चल सकेगा कि ये निशान किसके हैं। वो अंदेशा व्यक्त करते हैं बड़े पांव दो ही जानवरों के होते हैं- एक गैंडा और एक हाथी। हो सकता है जंगल से भटककर कोई जानवर आ गया हो।

यह भी पढ़े: ये है दुनिया के सबसे पेचीदा 21 तथ्य जिनका जानना बेहद जरुरी... पढ़े एक बार

यह भी पढ़े: नाक में क्यों होते है दो छेद? जाने वजह

यह भी पढ़े: जिंदगी भर के लिए छिन गयी इस लड़की की हंसी... पढ़ना ना भूले

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.