सिख विरोधी दंगों पर चार हफ्ते में स्टेटस रिपोर्ट दे केंद्रःसुप्रीम कोर्ट गोवाः भाजपा ने उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी की बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ करने वालों के खिलाफ होगी कार्रवाई : रघुवर दास 'खुल्लम खुल्ला' की सफलता की दुआ मांगने तिरूपति पहुंचे ऋषि कपूर उप्रः भाजपा उम्मीदवारों की पहली सूची जारी, 149 के नाम पर मुहर मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे के विरुद्ध मामला दर्ज दिल्ली विस का दो दिवसीय सत्र मंगलवार से, हंगामा के आसार भाजपा ने उत्तराखंड के लिए 64 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की सरकार की तीसरी वर्षगांठ पर 'अच्छा काम, ठोस परिणाम' विकास प्रदर्शनी हलफनामा न सौंपने पर चीफ जस्टिस नाराज, दस राज्यों के सचिव तलब नेताजी का चेहरा ही सपा की पहचान: अखिलेश इटली में छुट्टियां मना रही है श्रीदेवी अपनी फैमिली के साथ, देखें तस्वीरें 1 जुलाई से लागू होगा GST कोडवर्ड में कौन कर रहा है बात, पुलिस को मिलीं कुछ संदिग्ध फोन कॉल! आईएमएफ ने भारत की विकास दर घटाकर 6.6 फीसदी की दस हजार कांस्टेबल और ढाई हजार दारोगा की होगी बहाली : डीजीपी छत्तीसगढ़: राजनाथ ने कहा- नक्सल को खत्म करने के लिए केंद्र सरकार करेगी सहयोग जापानी वैज्ञानिकों का दावा, पृथ्वी के केन्द्र का तीसरा पदार्थ सिलिकॉन अमृतसर पूर्व सीट से लड़ेंगे सिद्धू प्रौद्योगिकी के बदलते दौर में फिल्म निर्माण एक लोकतांत्रिक प्रक्रिया में तब्‍दील हो गया है: कर्नल राठौर
50 हजार लोग डर के मारे छुपे है घरों में, डर है अनजान शक्ति का
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 09:52:52 PM
1 of 1

उत्तर प्रदेश। उत्तर प्रदेश के खीरी जिले में अजीबोगरीब पैरों के निशान मिलने से 50 हजार की आबादी खौफ़जदा है। शहर से सटे फूलबेहड़ इलाके में तीन दिनों से खेतों में ये भारी भरकम पांव के निशान मिलने से इलाके में सनसनी फैली हुई है। बुढ़नापुर गांव के बलबीर सिंह कहते हैं, 'साहब कोई दिखाई भी नहीं देता। लेकिन सुबह खेतों में ये अजीबोगरीब निशान दिखाई पड़ते हैं। आखिर इतने बड़े-बड़े पांव किसके हैं, समझ नहीं आ रहा। '

किसी को नहीं पता, किसके हैं निशान
फूलबेहड़ के बलवापुर, सफियापुर, मेंहंदी, महेवागंज आदि तमाम गांवों में इन निशानों से लोग खौफजदा हैं। खेतों में इस तरह से भारी-भरकम पैरों के निशान बने मिलने से लोग डरे हैं।
ये निशान किसके हैं यह रहस्य ही बना हुआ है। सरसों के खेत हों या गन्ने के खेत, आलू हो या गेंहू हर खेत में ये भारी-भरकम निशानों के मिलने से लोग सकते में हैं।

घरों में दुबके लोग
कोई इसे मकुना हाथी कह रहा है तो कोई इन निशानों को शैतान के पांव भी बता रहा है। खेत में पानी लगा रहे असलम कहते हैं समझ में नहीं आ रहा। इतने बड़े निशान आज तक हमलोगों ने नहीं देखे। कोई जानवर है या कोई बलाय ये भी नहीं पता। शहर और जिला मुख्यालय के पास तक पहुंच गए इन आदमकद पांव के निशानों से लोग हैरान हैं। सूर्यास्त होते ही लोग घरों में दुबक जा रहे हैं। लोग खेतों में काम पर नहीं जा रहे हैं। गेंहू को पानी नहीं लगा रहे और गंन्ने की छिलाई भी बन्द गई है हो।

प्रशासन को कोई खबर ही नहीं
करीब पचास हजार की आबादी और तीन दर्जन से ज्यादा गांवों में इन पैरों का खौफ सर चढ़कर बोल रहा है। दिलचस्प बात यह है कि प्रशासन इन खौफ के पैरों से अनजान है।
वाइल्ड लाइफ के जानकार डॉ। वीपी सिंह कहते हैं कि देखने पर ही पता चल सकेगा कि ये निशान किसके हैं। वो अंदेशा व्यक्त करते हैं बड़े पांव दो ही जानवरों के होते हैं- एक गैंडा और एक हाथी। हो सकता है जंगल से भटककर कोई जानवर आ गया हो।

यह भी पढ़े: ये है दुनिया के सबसे पेचीदा 21 तथ्य जिनका जानना बेहद जरुरी... पढ़े एक बार

यह भी पढ़े: नाक में क्यों होते है दो छेद? जाने वजह

यह भी पढ़े: जिंदगी भर के लिए छिन गयी इस लड़की की हंसी... पढ़ना ना भूले

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.